कश्मीरी कहवा: Kashmiri Kahwa Recipe

Kashmiri Kahwa Recipe: क्या आपने कभी बर्फ़ीली पहाड़ियों के बीच, बर्फ से ढंके देवदार के जंगलों की सैर की है? जहाँ हवा में एक ख़ास खुशबू घुलती है और हर साँस के साथ ज़िंदगी ताज़ी हो जाती है? कश्मीर की ख़ूबसूरती के साथ-साथ वहाँ की संस्कृति और परंपराएँ भी उतनी ही मनमोहक हैं. और इन परंपराओं में से एक है लज़ीज़ कश्मीरी कहवा का जादू.

कहवा सिर्फ़ चाय नहीं, बल्कि कश्मीरी ज़िंदगी का एक अहम हिस्सा है. ये मेहमानों के स्वागत का ज़रिया है, सर्दी का मुकाबला करने का हथियार है, और शाम की गपशप का साथी भी. हर घूंट में कश्मीर की ख़ुशबू, ज़मीन की महक और पहाड़ों का गीत घुल जाता है.

तो आज हम आपको कश्मीरी कहवा बनाने की आसान रेसिपी बताएँगे, ताकि आप भी अपने घर में कश्मीर का एक टुकड़ा ला सकें.

सामग्री:

  • 2 कप पानी
  • 1 छोटा चम्मच ग्रीन टी पत्ती
  • 1 छोटी दालचीनी की स्टिक
  • 2 इलायची
  • 2 लौंग
  • 1/4 कप बादाम, बारीक कटे हुए
  • 1/4 कप चीनी (स्वादानुसार)
  • 1/4 छोटा चम्मच केसर (ऑप्शनल)

विधि: Kashmiri Kahwa Recipe

  1. एक पैन में पानी डालकर उबालें.
  2. उबलते पानी में दालचीनी, इलायची और लौंग डालकर 2 मिनट तक पकाएँ.
  3. अब इसमें ग्रीन टी पत्ती डालकर 1 मिनट और पकाएँ.
  4. गैस बंद कर दें और चीनी डालकर अच्छी तरह मिलाएँ.
  5. कप में छानकर लें और ऊपर से बारीक कटे हुए बादाम और केसर डालकर सर्व करें.

टिप्स:

  • आप चाहें तो ग्रीन टी की जगह ब्लैक टी भी इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • कश्मीरी कहवा को ज़्यादा गाढ़ा या पतला बनाने के लिए पानी की मात्रा कम या ज़्यादा कर लें.
  • केसर डालने से कहवा का स्वाद और खुशबू और बढ़ जाती है, लेकिन ये ऑप्शनल है.
  • परंपरागत रूप से कहवा को “समावर” नाम के एक ख़ास बर्तन में बनाया जाता है, लेकिन आप किसी भी पैन का इस्तेमाल कर सकते हैं.

Also read: International Tea Day 2023: सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती हैं ये 5 तरह की चाय, घर पर बनाकर पी सकते हैं

International Tea Day 2023

कहवा के फायदे:

कहवा सिर्फ़ स्वाद ही नहीं, बल्कि सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद है. इसमें मौजूद ग्रीन टी, मसालों और मेवों के गुणों का लाभ मिलता है. ये पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है, सर्दी-ज़ुकाम से बचाता है, और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है.

तो देर किस बात की? आज ही अपने घर में कश्मीरी कहवा बनाइए और कश्मीर की ख़ूबसूरती को अपने ज़हन में महसूस कीजिए. ये रेसिपी आपके परिवार और दोस्तों को ज़रूर पसंद आएगी.

कुछ और बातें:

  • कश्मीर कहवा सिर्फ़ एक पेय नहीं, बल्कि एक अनुभव है. इसे बनाने और पीने की प्रक्रिया में ही एक ख़ास सुकून मिलता है.
  • कश्मीर में कहवा पीते हुए अक्सर लोग गपशप लगाते हैं और ज़िंदगी के पलों को एन्जॉय करते हैं. तो आप भी अपने ख़ास लोगों के साथ कहवा का लुत्फ़ उठाएँ और ज़िंदगी के ख़ूबसूरत पलों को यादगार बनाएँ.

Leave a Comment