Til Sukhdi Recipe: तिल की सुखड़ी

Til Sukhdi Recipe: सर्दियों के मौसम में तिल की सुखड़ी खाने का एक अलग ही मजा होता है। यह एक स्वादिष्ट और पौष्टिक मिठाई है, जिसे बनाना बहुत ही आसान है। तिल की सुखड़ी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, आयरन और विटामिन सी होता है, जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 कप तिल
  • 1 कप गुड़
  • 1/2 कप घी
  • 1/4 चम्मच इलायची पाउडर

यह भी पढे: 3 Ghee Substitutes You Need to know about

Til Sukhdi Recipe बनाने की विधि:

  1. सबसे पहले तिल को एक कढ़ाई में डालकर धीमी आंच पर भून लें। ध्यान रहे कि तिल जले नहीं।
  2. जब तिल अच्छे से भुन जाएं, तो उन्हें एक प्लेट में निकाल लें।
  3. अब उसी कढ़ाई में गुड़ और घी डालकर धीमी आंच पर पिघला लें।
  4. जब गुड़ और घी अच्छी तरह से पिघल जाएं, तो उसमें भुने हुए तिल डालकर अच्छी तरह से मिला लें।
  5. अब इसमें इलायची पाउडर डालकर अच्छी तरह से मिला लें।
  6. अब एक थाली को घी से चिकना कर लें और उस पर सुखड़ी का मिश्रण फैला दें।
  7. अब सुखड़ी के ऊपर से थोड़ा सा घी डालकर चम्मच से चिकना कर लें।
  8. अब सुखड़ी को ठंडा होने के लिए रख दें।
  9. जब सुखड़ी ठंडी हो जाए, तो उसे मनचाहे आकार में काटकर सर्व करें।

आप नीचे दिये गऐ चित्र देखकर Til Sukhdi बना सकते है.

Til Sukhdi Recipe step by step images
Til Sukhdi Recipe Steps

Til Sukhdi Recipe step by step images
Til Sukhdi Recipe Steps

Q. तिल खाने से क्या फायदा होता है?

तिल एक पौष्टिक और स्वादिष्ट बीज है, जिसे दुनिया भर में कई तरह से खाया जाता है। तिल में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, और कई अन्य पोषक तत्व होते हैं।

Q. गर्मियों में तिल कैसे खाएं?

तिल को भिगोकर खाएं: तिल को रात भर पानी में भिगोकर रख दें। सुबह इसे धोकर खाएं। इससे तिल की गर्माहट कम हो जाती है।

Q. क्या रोज तिल खाना अच्छा है?

हां, रोज तिल खाना अच्छा है। तिल एक पौष्टिक बीज है, जिसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, और कई अन्य पोषक तत्व होते हैं। रोज तिल खाने से आपको कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं, जैसे कि:

Q. तिल में कैल्शियम की मात्रा कितनी होती है?

तिल में कैल्शियम की मात्रा काफी अधिक होती है। एक चम्मच तिल में लगभग 100 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। यह दूध के बराबर कैल्शियम की मात्रा है।

Q. सफेद या काला तिल कौन सा बेहतर है?

आहार के लिए कौन सा तिल बेहतर है, यह व्यक्ति की व्यक्तिगत प्राथमिकताओं और आवश्यकताओं पर निर्भर करता है। यदि आप अपने आहार में अधिक आयरन शामिल करना चाहते हैं, तो काले तिल का सेवन करना एक अच्छा विकल्प है। यदि आप अपने आहार में अधिक कैल्शियम शामिल करना चाहते हैं, तो सफेद तिल का सेवन करना एक अच्छा विकल्प है।

Q. काले तिल के साइड इफेक्ट क्या है?

काले तिल आमतौर पर सुरक्षित होते हैं और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। हालांकि, कुछ लोगों में काले तिल के सेवन से कुछ साइड इफेक्ट हो सकते हैं।
काले तिल के संभावित साइड इफेक्ट निम्नलिखित हैं:
एलर्जी: कुछ लोगों को काले तिल से एलर्जी हो सकती है। एलर्जी के लक्षणों में खुजली, सूजन, और सांस लेने में तकलीफ शामिल हैं।
अपच: काले तिल में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जिससे अपच हो सकता है।
गैस और सूजन: काले तिल में फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जिससे गैस और सूजन हो सकती है।
ब्लड प्रेशर: काले तिल में पोटेशियम की मात्रा अधिक होती है, जिससे कुछ लोगों में ब्लड प्रेशर कम हो सकता है।

यदि आप काले तिल का सेवन शुरू कर रहे हैं, तो धीरे-धीरे शुरू करें और अपने शरीर की प्रतिक्रिया देखें। यदि आपको कोई साइड इफेक्ट दिखाई देते हैं, तो तिल का सेवन बंद कर दें और अपने डॉक्टर से सलाह लें।

सुझाव:

  • आप चाहें तो तिल की सुखड़ी में बादाम, काजू या पिस्ता के टुकड़े भी डाल सकते हैं।
  • तिल की सुखड़ी को आप एक महीने तक एयरटाइट कंटेनर में बंद करके रख सकते हैं।

तिल की सुखड़ी एक स्वादिष्ट और पौष्टिक मिठाई है, जिसे आप आसानी से घर पर बना सकते हैं। तिल की सुखड़ी खाने से आपको कई तरह के स्वास्थ्य लाभ भी मिलेंगे।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह रेसिपी पसंद आएगी। अगर आप इस रेसिपी को बनाएंगे, तो मुझे जरूर बताएं।

आपका दिन शुभ रहे!

Leave a Comment